योग साधना आश्रम, स्वामी आनंदानंद द्वारा १९६९ में स्थापित किया गया था ताकि लोग अपनी तकलीफों को योग व प्राकृतिक चिकित्सा द्वारा कम सके. वे सेंट्रल एड्वयेसरी बोर्ड फॉर सेंट्रल काउंसिल ऑफ़ रिसर्च इन इंडियन मेडीसिन एंड योग, भारत सरकार के सदस्य थे.

योग जो हमारी प्राचीन ऋषियों की अनुपम देन है. भारतीय संस्कृति की अमूल्य निधि है. योगासन विज्ञानं पर आधारित है. जाति, धर्म, लिंग, वर्ण एवं अवस्था के बिना भेदभाव के सभी स्तर के लोग योगासन के अध्यन एवं अभ्यास द्वारा अपने शारीरिक, मानसिक, नैतिक एवं अध्यात्मिक विकास की चरम सीमा तक पहुच सकते है

योग साधना आश्रम अनाथ बच्चों को दुबारा बसाने व पढाने के लिए अनाथालय भी चलती है.

पाठ्यक्रम
 
 
 
 

संस्था को दिए गए दान/चंदे पर आयकर अधिनियम की धारा ८०-जी के तहत छुट है

 
 

Copyright Reserved @ 2009. Powered By Lexical Systems