योग साधना आश्रम, स्वामी आनंदानंद द्वारा १९६९ में स्थापित किया गयाA

जाति, धर्म, लिंग, वर्ण एवं अवस्था के बिना भेदभाव के सभी स्तर के लोग योगासन के अध्यन एवं अभ्यास द्वारा अपने शारीरिक, मानसिक, नैतिक एवं अध्यात्मिक विकास की चरम सीमा तक पहुच सकते हैA

योग साधना आश्रम विगत कई वर्षो से स्वतंत्र रूप से तथा राजस्थान राज्य सरकार द्वारा परिचालित योगिक चिकित्सा एवं अनुसन्धान केंद्र के परिपूरक के रूप में कार्य कर रहा हैA

 
आश्रम के सेवा कार्य से आकृष्ट होकर देश विदेश के अनेक मुमुक्षु व्यक्तिगत एवं सामूहिक रूप से योग परिक्षण के अभिलाषी रहे हैA जन आकंशाओ की पूर्ति हेतु राज्य सरकार ने योगिक अनुसन्धान केंद्र से संलग्न खली भूखंड प्रदान किया हैA

उक्त भूखंड ४५ लाख रुपए के व्यय के क्रमश: तीन चरणों में भवानदि निर्माण करने के परिकल्पना है परन्तु आश्रम के उद्देश्यों को मूर्त रूप देने की द्रष्टि से समग्र भारत में इसकी शाखाओ की स्थापना एवं परिचालन में प्राय: १ करोड़ रुपये की आवयश्यकता स्वतंत्र भारत की १ अरब जनता के लिए यह धन राशिः नगण्य ही मणि जायेगीA योग साधना आश्रम धनी-दरिद्र सभी वर्गों की सार्वजनिक संस्था हैA

योग साधना आश्रम अनाथ बच्चों को दुबारा बसाने व पढाने के लिए अनाथालय भी चलती हैA

 
 

संस्था को दिए गए दान/चंदे पर आयकर अधिनियम की धारा ८०-जी के तहत छुट है

 
 

Copyright Reserved @ 2009. Powered By Lexical Systems